AAP ने कसा तंज- 'सखी सैयां तोह खूब ही कमात है, महंगाई डायन खाए जात है' के गीत पर प्रदर्शन करने वाले भाजपाई आज कहाँ है ?
पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस के दाम में पहले ही आग लग चुकी है.अब सरसो और रिफाइनर तेल भी कम्पटीशन दे रही है.

आम आदमी पार्टी बिहार के प्रदेश प्रवक्ता बबलू कुमार प्रकाश ने कहा कि केंद्र व राज्य की सरकार ने महंगाई की मार से जनता का तेल निकाल लेने का संकल्प ले लिया है. सरकार की महंगाई नियंत्रण की बातें सिर्फ छलावा है, धरातल पर कुछ भी नजर नहीं आ रही है.

बबलू ने भाजपा नेताओं पर तंज कसते हुए कहा कि 'सखी सैयां तोह खूब ही कमात है, महंगाई डायन खाए जात है' के गीत पर सड़को पर प्रदर्शन करने वाले भाजपाई आज कहाँ है ? जबकि पेट्रोल, डीजल  की कीमतों में भारी बढ़ोतरी हो चुकी है. खाद्य तेल की कीमतों में भी भारी उछाल आ गया है. लगभग एक साल में सरसो तेल के दाम 100 फीसदी की वृद्धि हो गई है. इससे आम आदमी का बजट बुरी तरह से गड़बड़ाया गया है. बेतहाशा महंगाई भाजपा के नेताओं को क्यों नही दिख रही है.

बबलू ने कहा कि कोरोना काल में लागू किए गए लॉकडाउन व अन्य विपरीत परिस्थितियों से रोजगार और कारोबार बुरी तरह से प्रभावित हुए हैं. इससे लोगों की आमदनी पर खासा असर आया है. अभी लोग इस मार से उबर भी नहीं पाए कि अब बढ़ती महंगाई ने आम आदमी को अपनी चपेट में ले लिया है. रसोई में इस्तेमाल में आने वाले खाद्य पदार्थों की कीमत लगातार बधाई जा रही हैं, जबकि आम आदमी की आमदनी उस रफ्तार से नहीं बढ़ रही है. 

बबलू ने कहा- महंगाई नियंत्रण करने में केंद्र व राज्य सरकार पूरी तरह फ़िसड्डी साबित हो चुकी है. सरकार लॉकडाउन का घाटा जनता का खून चूस कर पूरा करने में लगी है. रिफाइंड व सरसों का तेल का हर घर में उपयोग होता है. गैस सिलिंडर भी रसोई की जरूरी चीज है.सरकार को इनकी कीमतों में नियंत्रण के उपाय अविलंब करनी चाहिए.

Share To:

Post A Comment: