प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा सीरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया का दौरा करने के बाद इंस्टीट्यूट के सीईओ अदार पूनावाला ने दावा किया है कि अगले दो सप्ताह में कोवीशील्ड के इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए आवेदन कर दिया जाएगा। पूनावाला का कहना है कि यह वैक्सीन (टीका) लगने के बाद लोगों को अस्पताल जाने की नौबत नहीं आएगी। अदार पूनावाला प्रधानमंत्री खुद भी वैक्सीन के बारे में काफी जानकारी रखते हैं। उन्होंने सीरम इंस्टीट्यूट में वैक्सीन उत्पादन की तैयारियों की पूरी जानकारी ली और वह हमारी तैयारियों से संतुष्ट दिखे। बता दें कि भारत में पांच वैक्सीन पर काम चल रहा है। इनमें पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया आक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी एवं दवा निर्माता कंपनी एस्ट्राजेनेका के साथ मिलकर कोवीशील्ड वैक्सीन के उत्पादन की तैयारी कर रहा है। जिसके ट्रायल का अंतिम चरण चल रहा है। नावाला के अनुसार अभी यह तय नहीं है कि सरकार कितने डोज खरीदेगी। लेकिन उम्मीद है कि वह अगले वर्ष जुलाई तक 30 से 40 करोड़ खरीद सकती है। पूनावाला का दावा है कि यह वैक्सीन लेने के बाद किसी को अस्पताल जाने की नौबत नहीं आएगी। न ही वैक्सीन ले चुके व्यक्ति से किसी को संक्रमण का खतरा रहेगा। उन्होंने कोवीशील्ड को पूरी तरह सुरक्षित भी करार दिया है। उनके अनुसार कोवीशील्ड के वैश्विक ट्रायल में हास्पिटलाइजेशन जीरो फीसद रहा है, और वायरस का असर 60 फीसद तक कम हो जाता है।

Share To:

Post A Comment: