दरअसल, लॉकडाउन के दौरान दिल्ली में फंसे टीपू यादव (Tipu Yadav) नाम के युवक की मां का भागलपुर (बिहार)  में देहांत हो गया, लेकिन वह अपनी मां के अंतिम संस्कार में शामिल होना तो दूर वह अपनी मां के दिवंगत शरीर का अंतिम दर्शन तक नहीं कर सकता है। वजह है लॉकडाउन के दौरान हवाई, ट्रेन और बस सेवाओं का पूरी तरह बंद होना। दिल्ली में बनाए गए नाइट शेल्टर में रुके टीपू यादव का कहना है कि मैं बिहार के भागलपुर से दो जून की रोटी के चक्कर में दिल्ली आया था। गांव में मेरी मां की मौत हो गई, लेकिन मैं लॉकडाउन के चलते यहां पर फंसा हुआ हूं। टीपू रोते हुए बताता है- 'मैं बेहद गरीब हूं। मैं ऐसी स्थिति में अपने गांव जाना चाहता हूं। कोई मेरी मदद करो।


(सभार/सौजन्य से)
Share To:

Post A Comment: